Haryana-liquor-scam

चंडीगढ़. हरियाणा में गोदामों से शराब गायब होने के मामले कम होने के नाम नहीं ले रहे हैं। गायब शराब की कीमत 10 करोड़ आंकी गई है। अब जांच के लिए SIT गठित की गई है। आपको बता दें पहले फ़तेहाबाद ओर हाल ही में सोनीपत जिले के दो गोदामों से भारी मात्रा में शराब की बोतलें गायब हुई है। गृहमंत्री अनिल विज (Minister Anil Vij) ने बताया कि सोनीपत जिले के दो गोदामों से भारी मात्रा में शराब गायब है और यह अधिकारियों की मिली-भगत के बगैर संभव नहीं है।

अनिल विज ने कहा कि हरियाणा सरकार ने आसपास स्थित दो गोदामों से शराब गायब होने के मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है। मंत्री ने बताया कि एक गोदाम पुलिस के जबकि दूसरा राज्य आबकारी विभाग के तहत आता है।।यह पूछने पर कि क्या इसमें किसी अधिकारी की मिली-भगत हो सकती है

‘‘सांठ-गांठ के बिना शराब की चोरी संभव नहीं है. पुलिस और आबकारी विभाग की मिली-भगत के बगैर यह चोरी संभव नहीं होती.’’

अनिल विज, मंत्री हरियाणा सरकार

ग़ायब मिली 2 लाख शराब की बोतलें

दरअसल, हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश में बीते बुधवार को शराब के ठेके खुलने की परमिशन दी गई थी। ठेकेदारों द्वारा सोनीपत जिले भर के ठेके खोले गए। लेकिन ठेके पहुंचे लोगों को शराब नहीं मिल पाई। जिले के अधिकांश ठेकों में शराब का स्टॉक नहीं था। क्योंकि इससे पहले आबकारी विभाग ने शराब के गोदाम को सील किया हुआ था। फ़तेहाबाद जिले में लॉकडाउन के चलते हरियाणा में बंद किए गए शराब ठेकों के बाद सील किए गए शराब से भरे सरकारी गोदामों से करीब दो लाख शराब की बोतलें गायब होने का खुलासा हुआ था।

गायब शराब की कीमत 10 करोड़

आबकारी एवं काराधान विभाग के उपायुक्त वीके शास्त्री ने यह खुलासा करते हुए बताया था कि शराब की 2 लाख बोतलें इन गोदामों में स्टॉक से कम मिली थी। जांच में पाया गया था कि शराब की बोतलें चोरी छिपे गोदामों से गायब की गई हैं। गायब की गई ये शराब अवैध रूप से मार्केट में बेची गई थी। वहीं गायब हुई 2 लाख शराब की बोतलें अवैध रूप से बेचकर ठेकेदारों द्वारा करीब 10 करोड़ रुपए का मुनाफ़ा कमाए जाने का अनुमान है।

इसी तरह की खबरों के लिए जुड़िए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से।

One thought on “लॉकडाउन में शराब गोदाम सील होने के बाद भी ठेकेदारों ने बेच दी 2 लाख शराब की बोतलें, SIT करेगी जांच”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *