हरियाणा में 45 हजार प्रवासियों ने लगाई घर वापसी की गुहार, सरकार करेगी ट्रेन का इंतजाम

देश में चारों तरफ फैले कोरोना के संक्रमण के बीच हरियाणा में मौजूद करीब 45 हजार श्रमिक अपने घरों की तरफ जाना चाहते हैं। अधिकतर मजदूरी करने वाले यह लोग अब यहां रहकर दिन काटना नहीं चाहते। उन्होंने सरकार से घर भेजने की गुहार लगाई है। गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि हरियाणा में दूसरे प्रदेशों से आए हुए 45000 लोग घर जाना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि अभी रजिस्ट्रेशन का काम जारी है। जब इनके रजिस्ट्रेशन का काम पूरा हो जाएगा तो सरकार इन्हें भेजने के लिए ट्रेन करेगी। फिलहाल 1200 लोगों के लिए एक ट्रेन चलाने के लिए अनुमति दी है। रेलवे का कहना है कि ऐसे लोगों को दूसरे प्रदेशों में भेजने के लिए नान एसी स्लीपर गाड़ियां दी जाएंगी। एक ट्रेन में 20 कोच होंगे और यह गाड़ियां सीधे उसी स्टेशन पर रुकेंगी। 

इसे भी पढ़ें : पलवल से पैदल राजस्थान जा रही महिला ने सड़क पर दिया बच्ची को जन्म, कई दिनों से नहीं मिला खाना

जहां के लिए यह श्रमिक जाएंगे बीच में ये रेलगाड़ियां कहीं भी नहीं रुकेंगी। विज ने बताया कि इस बार एक और बात देखने में आ रही है। चौंकाने वाली बात यह है कि श्रमिक चाहे पंजाब के हों, तमिलनाडु के या फिर किसी और प्रदेश के सभी एक बार अपने घर जाना चाहते हैं। 

ऐसा लगता है कि कोरोना की वजह से इनमें असुरक्षा की भावना आई है। जिसकी वजह से यह घर जाना चाह रहे हैं। ऐसा नहीं है कि हम अपने प्रदेश में इनको बेहतर सुविधाएं नहीं दे रहे हैं। हमारे यहां मेडिकल सुविधाएं भी अन्य प्रदेशों से बेहतर है। लेकिन उसके बावजूद लोग जाना चाह रहे हैं।

देश दुनिया की तमाम खबरों के ताजा अपडेट के लिए हरियाणा लाइव के फेसबुक पेज को लाइक करे।

One thought on “हरियाणा में 45 हजार प्रवासियों ने लगाई घर वापसी की गुहार, सरकार करेगी ट्रेन का इंतजाम”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *