Palwal-corona-news

देशभर में कोरोना वॉरियर्स के साथ दुर्व्यवहार की घटना हर दिन सामने आ रही है। ऐसी ही मामला पलवल (Palwal) में सामने आया है जहां दर्जनभर युवकों ने तेजधार हथियार से कोरोना योद्धाओं पर हमला बोल दिया गया। जिसमें स्टाफ नर्स और गार्डो को चोटें आई हैं। वहीं हमले में घायल नर्स की हालत गभीर है।

यह भी पढ़े : मेरा पानी मेरी विरासत योजना / किसानों को मिलेंगे 7 हजार प्रति एकड़, जानिए क्या है योजना

जानकारी के अनुसार शहर थाना क्षेत्र के अंतर्गत नागरिक अस्पताल में बीती देर रात इमरजेंसी वार्ड में तैनात स्वास्थ्य टीम पर हमला कर दिया जिससे वहां पर अफरा- तफरी मच गई। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज जांच शुरू कर दी है। वहीं मेडिकल स्टाफ पर हुए हमले को लेकर कर्मचारियों में जमकर रोष जताया करीब करीब डेढ़ घन्टे तक अस्पताल के काम काज को बंद रखा। वहीं हमले की सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुची और कार्रवाई का अश्वासन देकर अस्पताल स्टाफ को शांत कराया इसके बाद कर्मचारी वापस काम पर लौटे।

पुलिस ने कईयों के खिलाफ किया मामला दर्ज

डिप्टी एसएमओ डाक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि बीती रात को अस्पताल में जो हमले की घटना हुई है वह निंदनीय है। पुलिस को मामले की शिकायत दे दी गई है और पुलिस ने दो नामजद सहित अन्यो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। मामले में हमलावरों के खिलाफ कोरोना एपिडेमिक एक्ट के तहत भी सख्त कारवाई होनी चाहिए। इस हमले के बाद अस्पताल के कर्मचारी में खासा रोष है। सभी कर्मचारियों को समझा बुझाकर वापस काम पर जाने के लिए बोल दिया गया है और सभी वापस अपने काम पर चले गए हैै।

हमले को लेकर अस्पताल के स्टाफ ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो हड़ताल करेंगे। बता दें कि किसी गांव में दो पक्षों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था, एक पक्ष का अस्पताल में इलाज चल रहा था इसी दौरान दूसरा पक्ष भी वहीं आ गया तो इमरजेंसी में तैनात स्टाफ ने लॉक डाउन के मानदंडों का पालन करने की अपील की और कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखें। इसी को लेकर उन्होंने स्टाफ पर हमला कर दिया जिसमें नर्स और गार्डों को चोटें आई है।

इसी तरह की खबरों के लिए जुड़िए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *