जान बचेगी तभी तो कारोबार करेंगे, नहीं मिलेगी दिल्ली से आवागमन की अनुमतिः अनिल विज

दिल्ली से आवागमन के चलते बढ़े हैं हरियाणा के कोरोना केस

हरियाणा सरकार फिलहाल दिल्ली बॉर्डर पर कोई ढील देने के मूड में नहीं है। अभी किसी कर्मचारी या अन्य व्यक्ति को रोजाना आवागमन की अनुमति नहीं दी जाएगी। गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है किया कि अभी दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर रियायत की उम्मीद न करें। दिल्ली की वजह से ही एनसीआर के गुरुग्राम, सोनीपत, फरीदाबाद और झज्जर जिलों में लगातार कोरोना कहर बरपा रहा है।

हरियाणा में रोज दर्जनों नए केस सामने आ रहे हैं। हमारी प्राथमिकता पहले अपने लोगों की जान बचाना है, जब जान बचेगी तभी तो दिल्ली के साथ कारोबार के बारे में सोचेंगे। जब हम बचेंगे ही नहीं तो कारोबार कैसे करेंगे। उन्होंने कहा कि जिस शहर में 100 से ज्यादा हॉटस्पॉट को चुके हैं। उस शहर से पहले अपने लोगों की जिंदगी बचाएंगे फिर जहान।

Related Post

वहीं बार्डर बंद करने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी अपने कर्मचारियों को दिल्ली में ही रुकने को कह दिया है। ऐसे में बॉर्डर पर ढील देने की कोई जरूरत नही है। सोनीपत बॉर्डर मामले में दिल्ली हाइकोर्ट की ओर से हरियाणा सरकार को नोटिस मिला है। उसका जवाब तैयार किया जा रहा है, कोर्ट के समक्ष पिछले 10 दिनों के कोरोना के आंकड़े प्रस्तुत करेंगे।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए जुड़िए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से।

Leave a Comment