Mamta-cm

देशभर में कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। वहीं बड़ी खबर पश्चिम बंगाल से आ रही है जहां कोरोना से मरने वालों की संख्या में अचानक इजाफा हुआ है जिसको लेकर भाजपा ने राज्य सरकार पर निशाना साधा है। आंकड़ों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए भाजपा ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इस्तीफे की मांग की है। वहीं कोरोना वायरस आकड़ो को लेकर केंद्र और ममता सरकार में ठन गई है।

33 से 140 हुई मरने वालों की संख्या

पिछले पांच दिनों में पश्चिम बंगाल में आंकड़े चौंकाने वाले हैं। बंगाल में एक मई को कोरोना के मरीजों की संख्या 623 थी और मरने वालों की 33 तो वहीं दो मई को आंकड़े में कोई फर्क नहीं आया। तीन मई को कोरोना मामले 738 हो गए लेकिन मरने वालों की संख्या 33 ही रही।

चार मई को मरीजों की संख्या 777 हो गई और मरने वालों की संख्या 33 से बढ़कर 35। वहीं, पांच मई को मरीजों की संख्या 908 हो गई और मरने वालों की संख्या अचानक बढ़कर 133 हो गई। यानी एक दिन में 98 लोगों की मौत हो गई है। छह मई को मरीजों की संख्या 1344 और मौत का आंकड़ा बढ़कर 140 हो गया।

आपको बता दें पश्चिम बंगाल सरकार की कोरोना वायरस के आंकड़ों पर केंद्र से तनातनी चल रही है। ममता सरकार ने माना है कि कोरोना मरीजों का डेटा इकट्ठा करने के तरीके में चूक हुई है। सरकार का कहना है कि ऐसा हो सकता है कि कुछ मामले दर्ज न हो पाए हों।

भाजपा ने की ममता के इस्तीफे की मांग

पश्चिम बंगाल भाजपा के प्रभारी और भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने आंकड़े सामने आने के बाद ममता सरकार से इस्तीफे की मांग की है। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को गंभीर तरीके से बात करनी चाहिए और जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्हें पद पर बने रहने का कोई अधिकार नही है। वो तुंरत इस्तीफा दें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *