चंडीगढ़. कोरोनावायरस संकट के बीच हरियाणा सरकार ने 312 डॉक्टरों को नियुक्ति पत्र जारी किए थे लेकिन इनमें से महज 196 डॉक्टरों ने ही ज्वाइन किया है। अब हरियाणा सरकार ने ज्वाइन न करने वाले 116 डॉक्टरों को आखिरी मौका दिया है। यदि उन्होंने अगले सप्ताह तक ज्वाइन नहीं किया तो उनका नाम चयन सूची से हटा दिया जाएगा


मंत्री विज ने बताया कि इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से वेटिंग लिस्ट जारी की जाएगी। राज्य में रोहतक पीजीआई के जरिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से 447 डॉक्टरों की चयन प्रक्रिया शुरू कराई थी। परंतु 312 डॉक्टरों का चयन हो पाया। आरक्षित वर्ग की ज्यादातर सीटें खाली हैं। मार्च के आखिर में सरकार ने सभी को ज्वाइनिंग लेटर भेज दिया। परंतु अभी तक 196 डॉक्टरों ने ही ड्यूटी ज्वाइन किया है।

सरकार ने चयनित डॉक्टरों को अपनी मनपसंद जिले में ज्वाइनिंग का भी अॉफर दिया हुआ है। ऐसे में अब जो डॉक्टर अगले सप्ताह में ज्वाइन नहीं करते हैं तो वेटिंग लिस्ट में रहे डॉक्टरों के चयन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। पीजीआई की ओर से की गई चयन प्रक्रिया में 1400 अभ्यर्थियों ने भाग लिया था। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का कहना है कि सभी डॉक्टरों से कहा गया है कि वे जल्द ड्यूटी ज्वाइन करें।

One thought on “कोरोना संकट के बीच 116 डॉक्टरों ने नहीं की डयूटी ज्वाइन, हरियाणा सरकार ने दिया आखिरी मौका”
  1. डाकटरो को सैनिक की तरह समाज सेवा के लिए मुसीबत के समय सामने आना चाहिए. मै कहना नही चाहता लेकिन कहना चाहुंगा, किसी भी आदमी को डाकटर सैनिक पायलट की पोस्ट मे आरक्षण नहीं मिलना . इसमे 100% मैरिट वाले को आगे भेजा जाना चाहिए. जिससे समाज देश का भला हो जयहिनद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *