अरब सागर के साइक्लोन “तौकते” का हरियाणा में भी दिखेगा असर, आंधी और बारिश के आसार

#CycloneTauktae अरब सागर में बनने जा रहे साइक्लोन (चक्रवाती तूफान) “तौकते” का प्रभाव हरियाणा में भी देखने को मिलेगा। इसके साथ ही पाकिस्तान की तरफ से बढ़ रहा पश्चिमी विक्षोभ और साइक्लोन की नमी भरी हवा हरियाणा में 18 मई से अपना असर दिखाना शुरू करेंगी। जिससे हरियाणा के अधिकांश क्षेत्रों में तेज हवा और गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है। इसको लेकर पहले ही चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञान विभाग ने चेता दिया था।

बताया गया था कि अरबसागर के दक्षिण पूर्व में एक कम दबाब का क्षेत्र बनने व आने वाले दिनों में डिप्रेसन व साइक्लोन बनने की संभावना है। अब ठीक वैसा ही दिखाई पड़ रहा है। शनिवार को डिप्रेशन ने साइक्लोन का रूप धारण कर लिया, जिसका नाम म्यांमार ने ताऊते रखा है। यह तूफान अगले दो दिनों में सीवियर साइक्लोन व बाद में तीव्र हो कर अति सीवियर साइक्लोन में परिवर्तित होगा। इसके बाद यह तूफान उत्तर- उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ आगे बढ़ता हुआ गुजरात के तटों के आसपास प्रभाव दिखा सकता है। इसकी उत्तर या उत्तर पश्चिम में बढ़ने की प्रबल संभावना बनी हुई है। ऐसे मे इस तूफान का प्रभाव हरियाणा में भी देखने को मिलेगा।

म्यांमार ने दिया नाम “तौकते”, सरल भाषा में अर्थ ‘छिपकली’

भारतीय तट से गुजरने वाले साल के पहले चक्रवाती तूफान को ‘तौकते’ नाम म्यांमार ने दिया है, इसका अर्थ है ‘गेको’ यानी छिपकली।

हरियाणा की ताजा खबरों के लिए हमें टेलीग्राम पर फॉलो करें।

Leave a Comment