Fir-hssc-haryana

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के कांग्रेस की भूपेंद्र हुड्डा सरकार में तत्कालीन चैयरमैन व सदस्यों के खिलाफ पीटीआई (1983 PTI) भर्ती घोटाले की आशंका के चलते विजिलेंस ब्यूरो ने FIR दर्ज कि है। बता दें 2005 में हुड्डा हरियाणा के मुख्यमंत्री थे व नंदलाल पुनिया हरियाणा कर्मचारी आयोग के चैयरमैन थें।

हुड्डा तक भी पहुंच सकती है जांच की आंच

इनके कार्यकाल में हुई पीटीआई भर्ति को लेकर कार्रवाई शुरू हुई है। इस जांच की लपटें में तत्कालीन मुख्यमंत्री हुड्डा तक भी पहुंच सकती हैं। पीटीआई घोटाले में एफआईआर (FIR) दर्ज होने के बाद हुड्डा के लिए कानूनी परेशानियां और बढ़ सकती है।

क्या कहा गया FIR में

डीएसपी शरीफ सिंह की शिकायत पर स्टेट विजिलेंस ब्यूरो ने पंचकूला में धारा 466, 468, 471, 193, 166 व 120 बी के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया है। एफआईआर में कहा गया है कि कर्मचारी चयन आयोग पंचकूला ने विज्ञापन संख्या 6 दिनांक 20 जुलाई 2006 को 1983 पीटीआई की भर्ती के लिए आवेदन मांगे थे। इस भर्ती प्रक्रिया के दौरान आयोग के तत्कालीन अध्यक्ष व सदस्यों ने अपने पदों का दुरूपयोग करते हुए अयोग्य उम्मीदवारों को लाभ पहुंचाने के लिए चयन मानदंडों में बार-बार परिवर्तन किया।

एफआईआर में कहा गया है कि आयोग के अध्यक्ष द्वारा दिनांक 30 जून 2008, 11 जुलाई 2008 व 31 जुलाई 2008 को मनमाने तरीकों से चयन मानदंडों में फेरबदल किया गया था जिसे न्यायालय में चुनौती दी गई थी।

एफआईआर में कहा गया है कि उपरोक्त चयन प्रक्रिया में आयोग ने अपने चहेते उम्मीदवारों को साक्षात्कार में अनुचित लाभ देते हुए अत्यधिक अंक कुल 30 अंक में से 20 से 27 अंक प्रदान किए। इसमें योग्य उम्मीदवारों को वंचित रखने के लिए कुल 30 अंक में से केवल 7 में से 9 अंक तक दिए हुए हैं। डीएसपी सुरेश कुमार को इसकी जांच सौंपी गई है।

Join us on WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *