हरियाणा सरकार दूसरे राज्यों में बस नहीं भेजेगी। सरकार ने कहा है की वह अंतरराज्यीय बस सेवा नहीं शुरू करेगी। कोरोना के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ इसको लेकर बैठक हुई है। जिसमें विज ने सीएम के सामने यह मुद्दा रखा है। विज ने बताया कि मुख्यमंत्री उनकी बात से सहमत हैं। उन्होंने बसें दूसरे प्रदेशों में न भेजने की हामी भर दी है। 

ऐसे में अब सिर्फ हरियाणा के अंदर ही बसों का संचालन किया जाएगा। विज ने इस बाबत मुख्यमंत्री को लिखित में भी पत्र भेज दिया है। विज के मुताबिक अंतरराज्यीय बस सेवा इसलिए भी नहीं शुरू की जाएगी, क्योंकि इतनी अधिक संख्या में न तो लोगों के टेस्ट संभव हैं और न ही क्वारंटीन करने की व्यवस्था बन सकेगी।

दिल्ली गुरुग्राम बॉर्डर पर पुलिस पर हुई पत्थरबाजी को लेकर क्या बोले विज ?

दिल्ली के बार्डर क्षेत्र में हरियाणा पुलिस पर की गई पत्थरबाजी पर अनिल विज ने कड़ा संज्ञान लिया है। उन्होंने कहा है कि दिन रात हमारी पुलिस ड्यूटी दे रही है। लोगों की रक्षा के काम में जुटी है। ऐसे में पत्थरबाजी करने वालों को बिल्कुल बख्शा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ सरकार सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी। आपको बता दे इस मामले में 7 नामजदों सहित 800 पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट ने जो आदेश हरियाणा सरकार को दिए हैं। उनमें भी यही कहा गया है कि कोविड सेवा में लगे लोगों को आने जोन की छूट दी जाए। जिसमें कुछ श्रेणियों जैसे चिकित्सक नगर निगम कर्मचारी आदि को छूट देने के लिए कहा गया है। आम लोगों के आवागमन के लिए नहीं कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *