हरियाणा सरकार जुलाई माह में स्कूलों को खोलने की तैयारी कर रही है। इस संबंध में बुधवार को हरियाणा शिक्षा निदेशालय, पंचकूला ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को कमेटियां बनाकर स्कूल खोलने के विषय पर जिलेवार चर्चा करके एक रिपोर्ट 7 जून तक उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं।

बता दें कोरोना महामारी के दौरान स्कूलों को बंद कर दिया गया था। अब राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन की अवधि को समाप्त किया जा रहा है। ऐसे में मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) द्वारा स्कूलों को खोले जाने के संबंध में दिशा निर्देश बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। एनसीआरटी द्वारा इस संदर्भ में मॉड्यूल बनाया जा रहा है। 

हरियाणा सरकार ने भी स्कूलों को खोलने के संदर्भ में दिशा-निर्देश बनाए जाने की प्रक्रिया आरंभ कर दी है। ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए, विद्यार्थियों को संक्रमण से बचाते हुए, स्कूल को दोबारा खोला जा सके। राज्य की सिफारिश केंद्र को भेजे जाने के लिए चर्चा की जा रही है। इस संदर्भ में प्रत्येक जिले में एक कमेटी का गठन 4 जून 2020 तक करके इस पर व्यापक चर्चा कर अपनी रिपोर्ट 7 जून तक भेजनी होगी। 

क्या कहा शिक्षा मंत्री ने

  • स्कूल खोलने से पहले डेमो कक्षाएं चलाई जाएंगी।
  • 10वीं, 11वीं, 12वीं कक्षाएं सबसे पहले शुरू की जाएंगी।
  • छठी से नौवीं कक्षा उसके बाद शुरू करेंगे।
  • सबसे अंत में पहली से पांचवी तक की कक्षाएं शुरू करने का विचार है।
  • आधे बच्चे एक दिन बुलाए जाएंगे और आधे बच्चे अगले दिन।
  • दूसरा विचार यह है कि आधे बच्चों को सुबह के टाइम बुलाया जाए व आधे बच्चों को शाम के समय

कौन-कौन होगा कमेटी में

  • कमेटी का अध्यक्ष जिला शिक्षा अधिकारी या जिला मौलिक अधिकारी (जो भी वरिष्ठ हो)।
  • सचिव डाइट का प्रधानाचार्य होगा।
  • कमेटी में बतौर सदस्य उप जिला शिक्षा अधिकारी/खंड शिक्षा अधिकारी/खंड मौलिक शिक्षा अधिकारी।
  • प्रधानाचार्य एवं मीडिल स्कूल के मुखिया सदस्य होंगे। (5 सरकारी विद्यालयों से तथा 5 प्राइवेट विद्यालयों से)।
  • अध्यापक संगठनों के प्रतिनिधि (5 सदस्य)।
  • प्राइवेट स्कूल संगठनों के प्रतिनिधि (5 सदस्य)।
  • मीडिया जगत के सदस्य (5 सदस्य)।
  • माता-पिता अभिभावक संघ (5 सदस्य)

8 जून को जारी होगा 10वीं का रिजल्ट

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की ओर से 10वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम आठ जून दिन सोमवार को घोषित किया जाएगा। बोर्ड अधिकारियों ने इसकी तैयारी कर ली है। चार विषयों के आधार पर परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा। वहीं पांचवें विषय के औसत अंक दिए जाएंगे।

जो विद्यार्थी 11वीं कक्षा में विज्ञान विषय का चयन करेंगे, उनका 10वीं का विज्ञान विषय का पेपर बाद में लिया जाएगा। इसके साथ ही बोर्ड ने 12वीं के बचे हुए 10 विषयों की परीक्षा की भी तैयारी कर ली है। ये परीक्षाएं एक से 15 जुलाई के बीच चलेंगी। हरियाणा विद्यालय शिक्षा। बोर्ड के चेयरमैन ने इसकी पुष्टि की है।

Join us on Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *