हरियाणा सरकार ने दो बड़ी योजना के बारे में जानकारी दी है। सरकार दो एकड़ या इससे कम भूमि वाले किसानों को वास्तव में उनके लिए बनाई गई योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए “किसान मित्र योजना” बनाई जाएगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस दिशा में पहल करते हुए योजना जल्दी तैयार करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

पशुधन क्रेडिट कार्ड योजना

मुख्यमंत्री ने हरियाणा को प्रति व्यक्ति दूध उत्पादकता में देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड की तर्ज पर ‘पशुधन क्रेडिट कार्ड योजना’ पर तेजी से कार्य करने को कहा है।

मुख्यमंत्री पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ले रहे थे। बैठक में पशुपालन एवं डेयरी मंत्री जेपी दलाल, पशुधन विकास बोर्ड के पूर्व चेयरमैन तथा विधायक सोमबीर सांगवान भी उपस्थित रहे।

विभाग के प्रधान सचिव राजा शेखर वुंडरू ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पशुधन विकास कार्यक्रम में हरियाणा के गाय और भैंसों को मुंहखुर व गलघोंटू रोग से मुक्त करने के लिए एफएमडी, एचएस संयुक्त वैक्सीन कार्यक्रम सफल रहा।

इसके परिणामस्वरूप पिछले एक साल से इन बीमारियों का कोई मामला सामने नहीं आया। इस कार्यक्रम के लिए हरियाणा को 15 करोड़ रुपये का अतिरिक्त अनुदान मिलेगा। वहीं महानिदेशक डॉ. ओपी छिक्कारा ने कहा कि राज्य में लगभग 36 लाख दुधारू पशु हैं तथा प्रति व्यक्ति दूध की उत्पादकता 1087 ग्राम है। दूध उत्पादन में पंजाब के बाद हरियाणा देश में दूसरे स्थान पर है।

पशुधन क्रेडिट कार्ड योजना के तहत पशुपालक को पशुओं के रखरखाव के लिए ऋण के रूप में सहायता मिल सकेगी और यह अधिकतम तीन लाख रुपये होगी। यह सहायता राशि भैंस, गाय, भेड़, बकरी, सुअर, मुर्गी व ब्रायलर इत्यादि के लिए दी जाएगी।

Join us on Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *