हरियाणा में रोडवेज की बसों में किराया एक बार फिर बढ़ रहा है। कुछ महीने पहले बसों के किराये में बढ़ोतरी लागू करने के बाद अब हरियाणा सरकार ने टोल टैक्स का बोझ भी सवारियों पर डाल दिया है। कोरोना महामारी के चलते सीमित सवारियों के साथ बस चलाना सरकार की मजबूरी है। लेकिन समस्या ये है की इन बसों में अब सवारिया नहीं मिल रही है जिस कारण हर रोज रोडवेज का घाटा बढ़ता जा रहा है। बस इसी घाटे को थोड़ा कम करने के लिए सवारियों को ही थोड़ी जेब ढीली करनी पड़ेगी। सरकार ने आर्थिक नुकसान को देखते हुए टोल टैक्स की दरों का बोझ सवारियों पर डालने का फैसला लिया है।

अब 30 सवारियों के हिसाब से लगेगा टोल टैक्स

आपको बता दे हरियाणा की रोडवेज बसों में टोल टैक्स के पैसे को 52 सवारियों में बराबर बांटा जाता था। कोरोना महामारी की वजह से सरकार ने बसों में फिजिकल डिस्टेंसिंग लागू की है। इसके तहत 52 सीटर बसों में अधिकतम 30 सवारियां ही बैठाई जा रही हैं। लेकिन टोल टैक्स की दरें तो वहीं हैं इसलिए अब इसका बंटवारा 52 की जगह 30 सवारियों में होगा।

ऐसे में हर रूट पर सफर करने वाले यात्रियों को अपनी जेब थोड़ी सी ढीली करनी ही होगी। मतलब ये की हरियाणा रोडवेज की बसों में सफर करने वाले यात्रियों को पहले से थोड़ा ज्यादा किराया देना पड़ेगा। प्रदेश के अधिकतर नेशनल व स्टेट हाईवे पर टोल प्लाजा लगे हुए हैं। ऐसे में छोटे रूट पर भी टोल टैक्स के रूप में बढ़ा हुआ किराया दिए बिना सफर करना आसान नहीं होगा।

Join us on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *