हरियाणा में नौकरी से हटाए गए 1983 पीटीआइ शिक्षक (PTI) अब विधायकों के दरवाजे पर पहुंच रहे हैं। हुड्डा सरकार में लगाए गए इन पीटीआइ को कोर्ट के आदेश के बाद हटा दिया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के पास पहुंचे इन पीटीआइ शिक्षकों की बात सुनने के बाद उन्होंने ऐलान किया है कि सत्ता में आते ही इन सभी पीटीआइ को बहाल किया जाएगा।

पीटीआइ प्रदेश भर में प्रदर्शन, धरने और आंदोलन कर रहे हैं। कई जिलों में क्रमिक अनशन चल रहे हैं। इन पीटीआइ में कई तो ऐसे हैं, जिनकी उम्र काफी हो चुकी। तीन दर्जन पीटीआइ ऐसे हैं, जो सेना की नौकरी छोड़कर यानी वीआरएस लेकर पीटीआइ लगे थे। इनमें जींद जिले के गांव काबरछा का दिलबाग सिंह लाठर भी है, जिन्होंने तीन आतंकवादियों को ढेर करने के बाद भारत सरकार से शौर्य अवार्ड हासिल किया था।

हुड्डा के दिल्ली आवास पर मिलने पहुंचे इन पीटीआइ से हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस के सत्ता में आने पर पीटीआइ को पूरे मान-सम्मान के साथ बहाल किया जाएगा। बता दें कि पीटीआइ सुप्रीम कोर्ट में केस हारे हैं और इसके बाद ही हरियाणा सरकार ने उन्हेंं नौकरी से हटाया है। 2010 में हुड्डा सरकार ने ही इनकी भर्ती की थी।

आपको बता दें कृषि मंत्री रणजीत चौटाला के नेतृत्व में इन पीटीआइ को एडजेस्ट करने का रास्ता निकालने के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है, मगर इस कमेटी को फिलहाल कोई रास्ता नहीं सूझ रहा है।

Join us on WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *