Jammu-and-Kashmir

जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा में एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर रियाज नायकू को ढेर कर दिया। कई वर्षों से सुरक्षाबलों को इस आतंकी की तलाश थी। कई बार सेना ने उसे घेरा भी गया लेकिन वह बच निकला। बुधवार को सुरक्षा बलों ने आखिरकार उसे मार गिराया। नायकू को जिस जगह पर मारा गया, वहां स्थानीय लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी है। मुठभेड़ स्थल के आसपास के इलाके में पथराव किए जाने की सूचना है।

वहीं आतंकी रियाज़ नायकू के मारे जाने के बाद अवंतीपोरा सहित पूरे कश्मीर के हालात पर केंद्रीय गृह मंत्रालय की कड़ी नजर है। गृह मंत्रालय कानून-व्यवस्था को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस के संपर्क में है। घाटी की स्थिति के बारे में पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह का कहना है कि हालात नियंत्रण में है और चिंता की कोई बात नहीं है।

यह भी पढ़े: राहुल गांधी का क्यों कहा जा रहा है पाकिस्तान प्रेमी

बता दें, सुरक्षाबलों ने बुधवार को उस घर को ही उड़ा दिया, जिसमें रियाज नायकू छुपा हुआ था। बाद में इस बात की पुष्टि हो गई कि मुठभेड़ में मरने वाला रियाज नायकू ही था। सुरक्षा को देखते हुए अभी जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट को बंद किया गया है और वॉयस कॉलिंग को भी बंद कर दिया गया है, ताकि किसी तरह की अफवाह न फैल पाए। इस ऑपरेशन को जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबलों ने एक साथ अंजाम दिया।

यहां आपको बता दें मंगलवार को सुरक्षाबलों को इनपुट मिला था कि रियाज नायकू अवंतीपोरा के बेगपोरा आया है। बेगपोरा ही उसका गांव है। यहां वह अपने परिवार से मिलने आया था। रियाज नायकू अपनी मां की तबीयत जानने आया था। सुरक्षाबलों को इस बात की जानकारी मिलते ही पूरे गांव को पूरी तरह से घेर लिया गया। जिस घर में रियाज नायकू छिपा हुआ था, वहां पर दो-तीन अन्य आतंकी भी थे। उन्हें भी सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया। फिलहाल कार्रवाई में शामिल जॉइंट ट्रूप्स को दो आतंकियों के शव बरामद हुए हैं, जिनमें एक रियाज नायकू का है। पूरे इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया गया है।

इसी तरह की खबरों के लिए जुड़िए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *