कोरोना महामारी के इस दौर में विद्यार्थियों के सामने आ रही परेशानियों को ध्यान में रखते हुए इनेलो की छात्र विंग आईएसओ (ISO) के राष्ट्रीय प्रवक्ता रमन ढाका ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर प्रदेश के छात्रों की समस्याओं और यथास्थिति से अवगत करवाया है।
आज लॉक डाउन की स्थिति में हरियाणा के छात्र-छात्राएं असमंजस की स्थिति में है, हरियाणा सरकार व उच्चतर शिक्षा विभाग और छात्रों के बीच आपसी संवाद की कमी दिखाई दे रही है। इस पर रमन ढाका ने कहा कि पिछले दिनों मानव संसाधन विकास मंत्रालय,भारत सरकार ने पूरे देश के शिक्षण संस्थानों से सुझाव मांगे थे। हरियाणा सरकार यूजीसी व मानव संसाधन मंत्रालय से संवाद स्थापित कर जल्द से जल्द छात्रों की पढ़ाई के लिए उचित कदम उठाए ताकि विद्यार्थियों का भविष्य बर्बाद ना हो।

उन्होंने कहा कि कॉलेज व विश्वविद्यालयों के स्नातक व स्नातकोत्तर कक्षाओं के अंतिम वर्ष के छात्रों को छोड़कर बाकी सभी विद्यार्थियों को अगली कक्षा में दाखिला दिया जाए और उन्हें ग्रेस नंबर भी दिए जाए।
अंतिम वर्ष के छात्रों को लोक डाउन खुलते ही होने वाली परीक्षाओं से पहले अपना पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए अतिरिक्त समय दिया जाए।

रमन ढाका ने कहा कि डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के अंतर्गत सरकार ऑनलाइन पढ़ाई के बड़े-बड़े दावे कर रही है परंतु सच्चाई इसके उलट है। ग्रामीण क्षेत्रों में कई जगह मोबाइल नेटवर्क का अभाव है और हर जगह इंटरनेट की सुविधा भी उपलब्ध नहीं है।
प्रदेश के बहुत सारे गरीब छात्रों के पास तो स्मार्टफोन तक नहीं है।

उन्होंने पत्र में मांग की हरियाणा सरकार जरूरतमंद छात्रों को पाठ्य सामग्री उपलब्ध करवाए तथा पहले से चल रहे ऑनलाइन प्रोग्राम के साथ-साथ हिसार दूरदर्शन केंद्र वह रोहतक आकाशवाणी का प्रयोग भी शिक्षण कार्यों के लिए कर सकती हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों के लिए हरियाणा सरकार गांव के रिटायर्ड प्रोफेसर, कॉलेज टीचरों व गांव के उच्च शिक्षा प्राप्त युवाओं की मदद मांग कर छात्रों को प्लेटफार्म उपलब्ध करवा सकती है जिससे गांव के छात्र अपने गांव में ही उनके मार्गदर्शन व सहायता से अपना पाठ्यक्रम पूरा कर सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *