Ramkumar-gautam-jjp

विधायक रामकुमार गौतम ने जेजेपी को लेकर कई बड़ी बाते कही है। उन्होंने कहा भाजपा एक बड़ी पार्टी तो है और जेजेपी का तो सौदा ए कुछ नहीं है, जिस दिन मैंने जेजेपी पार्टी ज्वाइन कि वह मेरे लिए काला दिन था। उन्होंने कहा कि कोरोना से पूरे देश में नुकसान हुआ है और सबसे ज्यादा नुकसान तो लॉकडाउन में गरीब मजदूर को हुआ है। ये लोग भूखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं।

गौतम ने आरोप लगाया कि नारनौंद की अनाज मंडी में आढ़ती काफी परेशान है, क्योंकि पिछले दिनों फूड सप्लाई विभाग ने मिलीभगत करके ट्रांसपोर्ट का टेंडर एक आदमी को नाम छोड़ दिया था। मैंने यह मामला मुख्यमंत्री से जिला उपायुक्त तक के संज्ञान में डाला था, लेकिन उसके बावजूद भी यह टेंडर एक तरफा मंजूर कर दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया की बेईमान लोग ऊपर से नीचे तक इस ट्रांसपोर्ट के धंधे में शामिल है।

उन्होंने कहा आढ़ती उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला से भी मिले थे, उन्होंने उनकी एक ही नहीं सुनी। आज तो हालात ऐसे हैं कि दूध की रखवाली बिल्ली कर रही है। वो भी इस खेल में बराबर के भागीदार हैं।

गौतम बोले, अकेले मलाई खा रहे है दुष्यंत

उन्होंने कहा कि सरकार ने वादा किया था कि किसानों की गेहूं की फसल की पेमेंट 72 घंटे में हो जाएगी लेकिन वह आज तक नहीं हुई है। यह सरकार की बड़ी गलती है। यह सारा ताकत का खेल है। दुष्यंत सभी विभागों की मलाई खाने का काम कर रहे हैं। एक मंत्री के पास दस विभाग हैं, बाकी सभी खाली बैठे हुए हैं। यह सभी विभाग खाने पीने के लिए ही लिए हुए हैं। मैं जेजेपी में गलती से आ गया था और जिंदगी में विधायक बनकर उससे भी बड़ी गलती कर दी है।

उन्होंने शराब घोटाले पर कहा की इसकी जांच ठीक से नहीं हो रही है। उन्होंने कहा इसी तरह जांच चली तो सारे बड़े मगरमच्छ बच जाएंगे।

Join us WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *