रमन वधवा

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए पंजाब में कर्फ्यू लगाया गया है। पंजाब में अब तक 151 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं और 11 की मौत हुई है। लोग घरों में जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। ऐसे में कोरसा को हराने के लिए खालसा-ऐड असहाय लोगों की सहायता कर रहा है। संस्थान को रोजाना दो हजार भूखे लोगों को भोजन उपलब्ध कराने से आजीविका के नुकसान का एहसास भी नहीं होने दिया। अब तक 20 दिनों में, संस्था ने 40,000 लोगों को भोजन वितरित किया है।
       जानकारी के अनुसार, बटाला में संगठन से जुड़े बटाला के लगभग एक हजार लोग हैं, लेकिन सुरक्षा कारणों से 20 लोगों को रोजाना सेवा करने का मौका दिया जा रहा है। गांव विन्जवा में खालसा ऐड का किचन लगभग पाँच सौ गज में बनायी गयी है। सुबह पांच बजे, 30 लोग पूरी तरह से कवर कर रसोईघर में पहुंचते हैं। फिर वे एक दूसरे से एक मीटर की दूरी बनाकर भोजन तैयार करते हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि सब्जियों को आऊरो के पानी से धोया जाता है। इसकी पुष्टि खालसा ऐड सहायता संस्थान, बटाला इकाई के प्रभारी दलजीत सिंह ने दी।

ईश्वर दे रहे है अतिरिक्त ऊर्जा: दलजीत सिंह
दलजीत सिंह ने कहा कि ईश्वर संगठन से जुड़े लोगों को काम के लिए अतिरिक्त ऊर्जा दे रहा है। भोजन दोपहर दो बजे के आसपास तैयार हो जाता है। उसके बाद करीब 2 हजार पैकेट बनते हैं। इसमें दाल, सूखी सब्ज़ियाँ पाई जाती हैं। 3 बजे, बटाला की झुग्गियों में रहने वाले लोगों को पैकेट वितरित किए जाते हैं। इसके अतिरिक्त एन.जी.ओ. के व्यक्ति का संपर्क नंबर दिया जाता है ताकि अगर किसी को किसी चीज की जरूरत हो तो वह उन्हें फोन कर बता सके।

विशेष पोशाक का उपयोग
कोरोना वायरस को हराने के लिए खालसा ऐड की टीम उनके शरीर पर एक विशेष पोशाक का उपयोग कर रही है। इसमें जैकेट, दस्ताने, मास्क का उपयोग किया जाता है।

लगभग एक हजार मास्क वितरित करता है।
खालसा ऐड अब तक एक हज़ार मास्क और ब्रांडेक कम्पनी का सैनिटाइज़र भी वितरित कर चुका है। लोगों को डोर-टू-डोर मास्क और सैनिटाइज़र भी दिया गाया है।

एक लीटर दूध भी दे रहा है खालसा ऐड।
संस्था जरूरतमंदों को दाल, सूखी सब्जी, चावल, रोटी आदि वितरित कर रही है। इसी के साथ संगठन उन गरीब परिवारों को एक लीटर दूध भी उपलब्ध करवा रहा है, जिनको दूध की आपूर्ति नहीं हो रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *