हरियाणा में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते सामान्य मरीजों को काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अब प्रदेश में सामान्य मरीजों को चिकित्सा सुविधाएं मुहैया करवाने के दृष्टिगत मोबाइल क्लीनिक की शुरुआत की जाएगी। इसके लिए, सरकार हरियाणा रोडवेज की बसों को उपयोग में लेगी। रोडवेज बसों में जरूरी बदलाव को लेकर आदेश जारी कर दिए गए हैं। संकट समन्वय समिति की बैठक के दौरान मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने नोडल अधिकारियों से चिकित्सा तैयारियों संबंधी बिंदुवार चर्चा की।

स्वास्थ्य सेवा में लगे स्टाफ की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि पीपीई किट की गुणवत्ता सुनिश्ति करने के लिए कंपनियों द्वारा तैयार की गई पीपीई किटों का सिटरा द्वारा सर्टिफिकेशन प्राप्त किया जाए। इसके अलावा, वेंटिलेटर बनाने वाली कंपनियों और इसके पुर्जे बनानी वाली कंपनियों को भी निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया जाए। 

उन्होंने कहा कि मोबाइल ओपीडी की सुविधा भी बढ़ाई जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि खरीद को ध्यान में रखते हुए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम भी बनाए जाएं। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि फसल खरीद को लेकर किसानों व श्रमिकों के आवागमन में किसी प्रकार की कोई समस्या न आए, इसके लिए नाकों पर डयूटी दे रहे पुलिसकर्मियों को विस्तृत दिशा-निर्देश दिए जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *