Haryana-labour

लॉकडाउन या उससे पहले हरियाणा से लौट चुके प्रवासी मजूदरों न एक बार फिर से हरियाणा वापस आने की इच्छा जताई है। जहां पूरे देश में लॉकडाउन के चलते जहां प्रवासी मजदूरों का पलायन लगातार जारी है। इसी बीच हरियाणा में इसका उलटा दिखाई दे रहा है। दरअसल यूपी-बिहार से एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा में काम पर लौटने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया है।

रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा सरकार के वेब पॉर्टल e disha पर एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा में काम पर लौटने के लिए आवेदन किया है। हरियाणा लौटने की इच्छा जाहिर करने वाले अधिकतर प्रवासी मजूदर उत्तर प्रदेश और बिहार से हैं।

आंकड़ों के अनुसार, जिन 1.09 लाख प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा काम पर लौटने की इच्छा जाहिर की है, उनमें 79.29 फीसदी गुरुग्राम, फरीदाबाद, पानीपत, सोनीपत, झज्जर, यमुनानगर और रेवाड़ी लौटना चाहते हैं। जिन लोगों हरियाणा काम पर लौटने की इच्छा जाहिर की है उनमें 50 हजार से ज्यादा अकेले गुरुग्राम आना चाहते हैं।

आपको बता दें कि हरियाणा में सबसे ज्यादा इंडस्ट्री और बिजनेस ईकाइयां इन्हीं जिलों में है। हरियाणा के मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी  बताया कि यदि प्रवासी मजदूर हरियाणा आना चाहते तो हम उन्हें वापस लाने का इंतजाम करेंगे। राज्य में औद्योगिक गतिविधियां पहले ही शुरू हो चकी हैं।

हरियाणा सीआईडी चीफ अनिल कुमार राव ने कहा कि ये वो लोग है जो काम करने के लिए वापस आना चाहते हैं। इसके अलावा कुछ लोग यहां अपने रिश्तेदार से मिलने के लिए आना चाहते हैं।

लेकिन अब सवाल उठता है कि क्या अब इन लोगों को वहां की सरकारें आने देंगी। हालांकि हरियाणा से अभी भी मजदूरों को भेजा जा रहा है। हरियाणा सरकार ने कई ट्रेनों ओर बसों की व्यवस्था की है ताकि इन मजदूरों को घर भेजा जा सके।

इसी तरह की खबरों के लिए जुड़िए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से।

2 thoughts on “यूपी-बिहार से काम के लिए हरियाणा आना चाहते है मजदूर, 1 लाख से ज्यादा लोगों ने किया आवेदन”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *