Ranjeet-cheeta

सिरसा. पंजाब में पाकिस्तान के रास्ते लाए गए नमक के बीच छिपाकर लाई गई 532 किलो हेरोइन तस्करी के आरोपी रंजीत उर्फ चीता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए), पंजाब पुलिस व हरियाणा पुलिस के ज्वाइंट आप्रेशन में चीता को सिरसा के बेगू गांव के एक मकान में पकड़ा गया है। उसके साथ उसके भाई गगन को भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस दोनों को सदर थाने में ले गई है, जहां आगामी कार्रवाई की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पंजाब पुलिस व एनआईए को गुप्त सूचना मिली थी कि हरियाणा के सिरसा जिले में नशा तस्कर रंजीत उर्फ चीता छिपा हुआ है। शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात को पंजाब पुलिस व एनआईए टीम सिरसा पहुंची। उन्होंने सिरसा के एसपी डॉ. अरूण सिंह को पूरी जानकारी दी और सिरसा पुलिस की बड़ी टीम को साथ लिया।

यह भी पढ़े: लॉकडाउन के डेढ़ महीने बाद भाजपा सरकार को आई ‘गाय’ की याद

पुलिस डेरा सच्चा सौदा के पास बेगू गांव में पहुंचे और घेराबंदी कर ली। रात के अंधेरे में किसी को सूचना नहीं लग पाई। इसके बाद एक घर में छापेमारी की और रंजीत उर्फ चीता व गगन को गिरफ्तार कर लिया। सूचना मिली है कि रंजीत यहां एक मकान में किराये पर रह रहा था। पुलिस उसे पकड़कर सिरसा सदर थाने ले गई है, जहां आगामी कार्रवाई की जा रही है। डीआइजी सिरसा डॉ. अरुण सिंह का कहना है कि यह संयुक्त आपरेशन था। पकड़ा गया एक नशा तस्कर देशभर में मोस्टवांटेड था। इनसे पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में बड़ा खुलासा होने की उम्मीद है।

पाकिस्तान से आए नमक में छिपाकर लाई गई थी 532 किलों हेरोइन

आपको बता दें कि 29 जुलाई 2019 को कस्टम ने पाकिस्तान के रास्ते आए नमक की खेप से 532 किलो हेरोइन तथा 52 किलो अन्य नशीला पदार्थ बरामद किया था। यह नमक अफगानिस्तान से आया था। नमक की यह कन्साइनमेंट अमृतसर के एक व्यापारी ने मंगवाई थी। इंटरनेशनल मार्केट में पकड़ी हेरोइन की कीमत 2700 करोड़ रुपये आंकी गई थी। यह खेप आज तक देश में पकड़ी गई हेरोइन की तमाम खेप में से सबसे बड़ी थी।

मामला चंडीगढ़ की एनआईए (NIA) कोर्ट में चल रहा है। इस मामले में पुलिस ने रंजीत उर्फ चीता को भी आरोपी बनाया हुआ था। रंजीत पिछले काफी समय से फरार चल रहा था। पुलिस और एनआईए लगातार उसकी तलाश कर रही थी। आरोप है कि रंजीत के संपर्क पाकिस्तान के आतंकी संगठनों से भी हो सकते हैं।

इसी तरह की खबरों के लिए जुड़िए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *