हरियाणा के चार प्रमुख जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और रेवाड़ी जहां इस समय कोरोना के सबसे अधिक मामले आ रहे है, को लेकर सरकार ने फैसला लिया है। हरियाणा सरकार इन जिलों में और अधिक सख्ती बरतेगी, लेकिन इन चारों जिलों में कर्फ्यू लगाने का सरकार का कोई इरादा नहीं है। बता दें गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए इन चारों जिलों में कर्फ्यू लगाने अथवा उनकी सीमाएं सील करने के हक में थे।

लेकिन मुख्यमंत्री खट्टर को योजना पसंद नहीं आई। अब प्रदेश सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि इन चारों जिलों के कंटेनमेंट जोन में ही सख्ती रहेगी, जबकि बाकी स्थानों पर सभी गतिविधियां सामान्य रूप से चलेंगी।

मास्क ना पहनने वालों पर सख्ती की जाए: मुख्यमंत्री खट्टर

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कोरोना के ताजा हालत को लेकर मीटिंग की है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे कोविड-19 के खतरे को देखते हुए अनलॉक-दो में लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें तथा मास्क वितरित करने का विशेष अभियान चलाए।

मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों पर सख्ती बरती जाए तथा मौके पर ही चालान काटा जाए। वहीं निर्देश दिया गया की चालान के साथ उन्हेंं कम से कम पांच-पांच मास्क वितरित किए जाएं। बैठक में जानकारी दी गई कि कुछ राज्य कर्नाटक, असम, मेघालय, उत्तराखंड, जम्मू एवं कश्मीर और महाराष्ट्र ने अपने स्तर पर कहीं एक सप्ताह, कहीं एक दिन और कहीं सप्ताह के अंत में लॉकडाउन पुन: लगाया है। जिस पर फिलहाल आम सहमति नहीं बन पाई।

Join us on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *