हरियाणा शिक्षा बोर्ड द्वारा 8वी की परीक्षाएं भी बोर्ड द्वारा ली जाएगी। यहां बता दें की वर्ष 2009 तक हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड 8वीं की परीक्षाएं लेता था, परन्तु राईट टू एजुकेशन एक्ट के चलते शिक्षा बोर्ड ने 8वीं की बोर्ड परीक्षाएं बंद कर दी थी।

पिछले तीन सालों से शिक्षा बोर्ड शिक्षा विभाग को 8वीं कक्षा की परीक्षाएं लेने के लिए पत्र लिख रहा था, जिस पर अब फैसला लेते हुए हरियाणा सरकार व शिक्षा विभाग ने 8वीं कक्षा में बोर्ड की परीक्षाएं लेने का निर्णय ले लिया है। हालांकि इस निर्णय में ये साफ कहा गया है कि राइट टू एजुकेशन के तहत भले ही 8वीं कक्षा के बच्चें परीक्षा में फेल हो, लेकिन उन्हे फेल न करके 9वीं कक्षा में प्रवेश दे दिया जाएगा।

हरियाणा शिक्षा बोर्ड नए सत्र से लागू करेगा यह व्यवस्था

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने सरकार के इस निर्णय के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सरकार द्वारा शिक्षा बोर्ड को 8वीं कक्षा में बोर्ड लागू करने का पत्र मिल चुका है। वर्ष 2021 के मार्च-अप्रैल में होने वाली 10वीं व 12वीं की परीक्षाओं के साथ ही 8वीं की भी बोर्ड की परीक्षाएं इसी सत्र से संचालित करवाई जाएंगी।

उन्होंने कहा कि पहले जो बच्चें सातवीं कक्षा तक बगैर पढ़े 8वीं कक्षा में हो जाते थे, वे अब 8वीं कक्षा का मूल्यांकन बोर्ड द्वारा किए जाने के चलते अधिक मेहनत करेंगे। इसके चलते 9वीं व 10वीं कक्षाओं का शैक्षणिक माहौल सुधरेगा। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि राइट टू एजुकेशन के तहत 8वीं कक्षा की परीक्षा बोर्ड द्वारा लिए जाने के बाद भी बच्चों को सभी विषयों में फैल होने पर भी फैल न करके 9वीं कक्षा में प्रवेश दे दिया जाएगा तथा इन 8वीं बोर्ड में फैल विद्यार्थियों को एक वर्ष के दौरान पास होने के लिए दो अवसर दिए जाएंगे।

Join us on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *