प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिसार जिले के मंडी आदमपुर के गांव सारंगपुर निवासी ओमप्रकाश से मोबाइल फोन के जरिए बातचीत की है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा क्यों हुआ। चलिए बताते हैं आपको पूरा माजरा।ओमप्रकाश का आयुष्मान भारत योजना के साथ जुड़ा रहना ही उनकी पीएम मोदी के साथ बातचीत का कारण बना।

बताते चले की तीन माह पहले अचानक ओमप्रकाश को गले में दर्द महसूस हुआ तो जांच करवाने के बाद पता चला कि गले का कैंसर है। बकौल ओमप्रकाश उन्होंने गले के दर्द को लेकर कहीं से देसी दवाइयां लीं तो कहीं अस्पतालों के चक्कर भी लगाए। फिर उन्हें पता लगा कि प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना से उनका फ्री इलाज हो सकता है।

आपको बता दें कुछ समय पहले हरियाणा के ही एक शख्स सीताराम बागड़ी को भी प्रधानमंत्री मोदी ने फोन किया था। प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे उनका हालचाल जाना था।

वहीं कहा जा रहा है कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठाने वाला ओमप्रकाश देश का एक करोड़वां व्यक्ति हैं। उनका भी आयुष्मान योजना के तहत नाम दर्ज था। ओमप्रकाश का हिसार के एक निजी अस्पताल में मुफ्त इलाज शुरू हुआ जहां उसे एक सेक दिया जा चुका है और चिकित्सक जल्द ही उसके ऑपरेशन की तैयारी कर रहे हैं जो पूरी तरह से नि:शुल्क होगा।

ओमप्रकाश के इलाज पर खर्च होने वाले एक-एक पैसे का भुगतान सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना के तहत किया जाएगा। ओमप्रकाश की खुशी का उस समय कोई ठिकाना न रहा जब उसे पता लगा कि आयुष्मान भारत योजना का लाभार्थी होने के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उससे फोन पर बात करेंगे।

मंगलवार को आया PMO से फोन

प्रधानमंत्री ओमप्रकाश से बात करेंगे इसकी सूचना उसे मंगलवार शाम 6 बजे प्रधानमंत्री कार्यालय से आए एक फोन के माध्यम से लगी। रात 8.30 बजे जैसे ही ओमप्रकाश के फोन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हैलो कहा तो एक बारगी तो ओमप्रकाश की आवाज नहीं निकली। ओमप्रकाश का कहना है कि प्रधानमंत्री ने अपनत्व भाव से उसका हालचाल पूछा। ओमप्रकाश खुद फोन नहीं रखते, उन्होंने अपने बेटे सुरेंद्र का नंबर ही आयुष्मान योजना में दे रखा था। पीएमओ से पहला फोन सुरेंद्र के पास ही आया।

बातचीत का जिक्र करते हुए ओमप्रकाश ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी ने पूछा कि इलाज के लिए उससे कितने रुपए लिए गए। इस पर ओमप्रकाश ने बताया कि उसे इलाज के लिए कोई पैसे नहीं देने पड़े और अस्पताल ने दवाइयां भी फ्री में दी हैं। प्रधानमंत्री ने ओमप्रकाश को भरोसा दिलाया कि वह घबराएंं नहीं, उनका पूरा इलाज किया किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने ओमप्रकाश से यह भी कहा कि वह इस योजना का अधिक से अधिक लोगों तक प्रचार करें ताकि दूसरे लोग भी इस स्कीम का लाभ उठा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *