दिल्ली-जयपुर हाईवे पर केमिकल से भरे टैंकर ने निखरी के निकट फ्लाईओवर पर ट्रैक्टर को टक्कर मार दी। जिसके बाद दोनों फ्लाईओवर तोड़कर नीचे सर्विस लेन पर गिर गए। इस हादसे में ट्रैक्टर में सवार युवक व उसकी मां गंभीर रूप से घायल हो गए तथा 8 वर्षीय मासूम की मौत हो गए। वहीं गिरने के बाद टेंकर में रिसाव हो गया। केमिकल से भरे टैंकर से हुए रिसाव के कारण हाईवे पर घूमने वाली 120 से अधिक गायों की मौत हो गई। देर रात तक भी गायों के मरने का सिलसिला कायम था।

बुआ के घर अनाज देने जा रहे थे तभी हुआ हादसा

बालावास जाट निवासी आदेश अपनी मां ऊषा देवी व आठ साल के बेटे वंशु के साथ ट्रैक्टर-ट्राली में गेहूं भरकर महेश्वरी में अपनी बुआ के घर देने जा रहा था। निखरी के निकट फ्लाईओवर पर जयपुर की तरफ से आ रहे केमिकल से भरे टैंकर ने पीछे से उनके ट्रैक्टर को टक्कर मार दी तथा इसके बाद दोनों वाहन रेलिंग तोड़ते हुए फ्लाईओवर से नीचे गिर गए। टैंकर सीधे ट्रैक्टर ट्राली पर गिरा जिससे उसमें सवार आदेश व उनकी मां ऊषा तो गंभीर रूप से घायल हो गए, लेकिन आठ वर्षीय वंशु की वाहनों के नीचे दबने से मौत हो गई।

केमिकल रिसाव पर नहीं दिया ध्‍यान

टैंकर से लगातार कैमिकल का रिसाव होता रहा लेकिन उसे बंद नहीं किया जा सका। केमिकल रिसाव के बावजूद टैंकर को हाईवे किनारे ही पटक दिया गया तथा कोई सावधानी नहीं बरती गई जिसके चलते हाईवे पर विचरण करने वाली 120 के लगभग गायों ने केमिकल के प्रभाव से दम तोड़ दिया। माना जा रहा है कि गायों ने सड़क पर बिखरे कैमिकल को चाट लिया जिससे वे काल का ग्रास बन गई।

वहीं इस मामले में सीधे तौर पर प्रशासन की लापरवाही सामने आई है। केमिकल से भरे टैंकर को सड़क किनारे पटक दिया गया लेकिन उसकी देखरेख नहीं की गई तथा न ही लोगों व पशुओं को उससे दूर रखा गया। नतीजा यह रहा कि गाय टैंकर के नजदीक पहुंची और मौत के मुंह में समां गई। गायों की मौत के बाद अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची।

घटना गंभीर है। एसडीएम व डीएसपी मौके पर ही हैं। मामले की जांच कराई जाएगी तथा जिस भी अधिकारी व कर्मचारी की लापरवाही सामने आई उसपर कार्रवाई की जाएगी।

यशेंद्र सिंह, उपायुक्त

Join us on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *