आरपीएफ चौकी इंचार्ज की गोली मारकर हत्या, हमलावरों को रेलवे ट्रेक पर नशा करने से रोका था

रेलवे ट्रेक पर युवकों को नशा करने से रोकने पर एक हिस्ट्रीशीटर ने आरपीएफ चौकी प्रभारी मनीष कुमार शर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात को सोमवार देर शाम उकलाना रेलवे स्टेशन से 100 मीटर दूर ट्रैक पर अंजाम दिया गया। वारदात के बाद युवक भागने लगे तो उनमें से लोगों ने एक को दबोचकर पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी की पहचान नारनौंद के लोहारी राघो निवासी संदीप के रूप में हुई है। वह अप्रैल में ही पैरोल पर आया था।

पुलिस का कहना है कि संदीप के पास से पिस्तौल भी बरामद कर ली गई है। पूछताछ में संदीप ने बताया कि उसके साथ चार और युवक भी थे, जो वारदात के समय मौके से फरार हो गए। पुलिस ने मनीष के शव को हिसार नागरिक अस्पताल की मॉर्चरी में रखवा दिया है। देर रात तक संदीप समेत पांच युवकों पर मुकदमा दर्ज किए जाने की कार्रवाई जारी थी।

बताया जा रहा है कि एसआई मनीष कुमार शर्मा रेलवे कर्मी सीताराम के साथ गश्त पर थे। उस दौरान वहां कुछ युवकों को नशा करते देखा तो उन्हें चले जाने को कहा। तभी युवकों में से एक ने दो राउंड गोलियां चला दी। एक गोली मुनीष कुमार के सीने और पेट के बीच के हिस्से पर लगी। इसके बाद उन्हें घायल अवस्था में बरवाला अस्पताल ले जाया गया, जहां से उन्हें हिसार नागरिक अस्पताल रेफर कर दिया गया। यहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने बताया कि आरोपी युवक कनीना थाने में 2015 में दर्ज लूट व डकैती के एक मामले में सजा भुगत रहा है। इस मामले में वह सात वर्ष की कैद काट रहा था। फिलहाल वह बीते माह अप्रैल में ही 42 दिन के पैरोल पर आया था। पुलिस ने बताया कि संदीप पर अलग-अलग थानों में कुल 14 मामले दर्ज हैं।