यमुनानगर में थाना छप्पर के गांव मंधार के 48 वर्षीय सरदार गुरविंदर सिंह की हत्या के मामले का पर्दाफाश हो गया है। गांव के ही सरपंच रणबीर सिंह ने गुरविंद्र की हत्‍या करवाई थी। सीआइए वन ने इस हत्याकांड में आरोपी पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

इनमें सरपंच के अलावा मंधार के अनिल कुमार, लखविंद्र सिंह, मंगा सिंह और एक अन्य सोनीपत के गांव शाहरपुर टंगा का भूपेंद्र उर्फ छोटा है। सरपंच के कहने पर ही इन्होंने वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस जांच में पता लगा है की जहां पर वारदात हुई वहां पर लगे पंचायती सीसीटीवी कैमरे भी बंद मिले थे। जबकि गांव में अन्य जगहों पर लगे सभी सीसीटीवी काम कर रहे थे। यमुनानगर एसपी कमलदीप गोयल इस संबंध में आज प्रेसवार्ता करेंगे।

भाई ने सरपंच पर जताया था शक

मृतक के भाई अमरजीत सिंह ने बताया था कि उनके भाई गुरविंदर की गांव में कई लोगों से रंजिश चल रही थी। गुरविंदर ने कई लोगों के अवैध धंधो का पर्दाफ़ाश किया था। हाल ही में उन्होंने सरपंच के गलत कार्यो की शिकायत की थी। उन्होंने बताया की 21 मार्च 2019 को गुरविंद्र की कार का पीछा किया गया था। जिन लोगों ने उसका पीछा किया था। वह हथियार लिए हुए थे। शिकायत में कहा गया था कि रणबीर व उसका भाई उनसे रंजिश रखते हैं। अब पुलिस जांच में सरपंच को दोषी पाया गया है।

Join us on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *