स्वास्थ्य विभाग में 11 हजार ठेका कर्मचारियों पर लटकी छंटनी की तलवार फिलहाल टल गई है। जांघ की हड्‌डी में फ्रेक्चर होने से पंजाब के एक प्राइवेट अस्पताल में आईसीयू से बाहर आने के बाद गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने वहीं से ही काम शुरू कर दिया है।

उन्होंने आईसीयू से बाहर आते ही सबसे पहले 11 ठेका कर्मचारियों को फिलहाल तीन माह के लिए राहत दे दी है। अब ये कर्मचारी 30 सितंबर तक अपनी ड्यूटी पर बने रहेंगे।

आपको बता दें कर्मचारियों को एक जुलाई से हटाए जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से आदेश जारी किए जा चुके थे। कर्मचारी संगठन इसको लेकर लगातार आंदोलन भी कर रहें हैं। विज ने इन कर्मचारियों को तीन माह और ड्यूटी पर बनाए रखने के लिए गृह विभाग के एसीएस, मेडिकल एजुकेशन के एसीएस और स्वास्थ्य विभाग के एसीएस को पत्र लिख दिया है। जिसमें उन्होंने अस्पतालों में सिक्योरिटी गार्ड को तीन माह और लगाए रखने के साथ होम गार्डों को कंटेनमेंट जोन में तैनात करने के आदेश दिए हैं।

मंत्री विज ने पूर्व में आदेश जारी किया था कि अस्पतालों में 3200 प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड की जगह होम गार्ड लगाए जाएं। स्वास्थ्य मंत्री विज ने बताया कि आईसीयू से बाहर आने के बाद पूरी रिपोर्ट ली गई। जिसके बाद इन कर्मचारियों कार्यकाल तीन माह बढ़ाने के आदेश दिए गए हैं।

Join us on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *