केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह अपने प्रभावक्षेत्र दक्षिण हरियाणा को बड़ी सौगात दिलाने में सफल हुए है। 14 जुलाई को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी हरियाणा को लगभग 12 हजार करोड़ की सड़क परियोजनाओं का तोहफा देंगे। इन परियोजनाओं में महेंद्रगढ़-पेहवा (कुरुक्षेत्र) ग्रीन फील्ड हाइवे और रेवाड़ी-जैसलमेर राजमार्ग संख्या-11 का रेवाड़ी-नारनौल भाग मुख्य रूप से शामिल है। इसके अलावा रेवाड़ी, अटेली व नारनौल बाइपास का भी शिलान्यास किया जाएगा।

चूंकि अधिकांश परियोजनाएं दक्षिण हरियाणा से जुड़ी है। ऐसे में प्रभावक्षेत्र से जुड़ी होने के कारण केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत इसे मौके को राजनीतिक रूप से भुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इसकी तैयारी भी शुरू कर दी गई है।

वहीं बताया गया कि यह कार्यक्रम वर्चुअल होगा, मगर तकनीक से जन भागीदारी सुनिश्चित होगी। कई स्थानों पर बड़ी स्क्रीन लगवाई जाएगी। गडकरी जिन परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे, उनमें से कुछ पर काम जारी है। लॉकडाउन व अन्य कारणों से शिलान्यास नहीं हो पाया था।

गड़करी इन परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास

नारनौल में प्रस्तावित 24 किमी लंबे बाईपास से महेंद्रगढ़, भिवानी, रोहतक, जींद, कैथल, करनाल व कुरुक्षेत्र जिलों से होते हुए पेहवा के निकट नेशनल हाईवे नंबर 152 में मिलने वाले ग्रीन फील्ड हाईवे के निर्माण पर 9 हजार करोड़ की लागत आएगी।

रेवाड़ी-जैसलमेर परियोजना

यह परियोजना कुल 848 किलोमीटर लंबी है। सामरिक महत्व के अलावा इसका पर्यटन की दृष्टि से भी महत्व है। निर्माण पूरा होने पर हरियाणा व राजस्थान के मध्य शेखावाटी क्षेत्र के पर्यटकों के लिए एक बेहतरीन पर्यटन गलियारा होगा।

वहीं मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह की मांग पर 4 जुलाई 2015 को रेवाड़ी के जिस आउटर बाईपास की घोषणा की थी, वह अब इसी राजमार्ग का हिस्सा है। शिलान्यास के साथ रेवाड़ी व मानेसर-बावल इंवेस्टमेंट रीजन जैसे दक्षिण हरियाणा के छोटे शहर महानगर बनने की ओर अधिक तेजी से अग्रसर होंगे।

Join us on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *