what-is-e-gram-swaraj-yojana-and-swamitva-yojana-in-hindi

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर दो नई योजनाओं की घोषणा की है। एक e-gram swaraj yojana ओर दूसरी Swamitva yojana. सरकार ने egramswaraj.gov.in पोर्टल लॉन्च किया है। इसमें ग्राम पंचायत की पूरी जानकारी मिल जाएगी जैसे सरपंच और पंचायत के अन्य लोगों की जानकारी। साथ ही, ग्रांच पंचायत की विकास योजनाओं की जाकारी भी इस पर मिलेगी। कितना फंड अभी तक पंचायत को दिया चुका है और प्रोजेक्ट्स की रियल टाइम मॉन्ट्रिंग की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा है कि इस ऐप से ग्राम पंचायतों के फंड, उसके कामकाज की पूरी जानकारी होगी, इसके माध्यम से पार्दशिता भी आएगी और परियोजनाओं के काम में भी तेज़ी आएगी।

e-gram swaraj yojana को लॉन्च करने के बाद इसके इंट्रोडक्शन में लिखा गया, ‘देशभर में पंचायती राज इंस्टीट्यूशंस में ई-गर्वेनेंस को मजबूत करने के लिए पंचायती राज मंत्रालय ने egram swaraj yojana वेबस पोर्टल को लॉन्च किया है। egram swaraj का लक्ष्य हे कि बेहतर प्लानिंग, प्रोग्रेस रिपोर्टिंग और वर्क बेस्ट अकांउटिंग पर विशेष ध्यान दिया जाएगा.’

e-gram swaraj 2020

इस पोर्टल पर राज्य स्तर पर पब्लिक फाइनेंस मैनेजमेंट सिस्टम (PFMS) का इंटीग्रेशन चार्ट भी उपलब्ध है। इसके मुताबिक, कर्नाटक, ओड़िशा, असम और उत्तर प्रदेश की चार्ट को पूरी तरह से इंटीग्रेट किया जा चुका है। इसमें हरियाणा, पंजाब और छत्तीसगढ़ का काम 90 फीसदी तक पूरा कर लिया गया है। जबकि, गुजरात और केरल समेत 9 राज्यों का काम अभी शुरू होना बाकी है।

SWAMITV YOJANA 2020 in Hindi | स्वामित्व योजना

स्वामित्व योजना (swamitva yojana) ग्रामीण क्षेत्रों में आवासीय संपत्तियों को मापने और उनका रिकॉर्ड करने के उद्देश्य से शुरू की गई है। स्वामित्व योजना के तहत, ड्रोन की सहायता से प्रत्येक गाँव की सीमा के अंतर्गत आने वाली संपत्तियों का विवरण एकत्र किया जाएगा यानी मैपिंग की जाएगी। बाद में, लोगों को उनके संपत्ति अधिकारों से संबंधित दस्तावेज प्रदान किए जाएंगे।

swamitva yojana का सबसे बड़ा फायदा यह है कि लोग अपनी संपत्ति का आर्थिक रूप से उपयोग सक्षम होंगे। इसका मतलब यह है कि गाँवों के लोग आवासीय संपत्तियों के जरिये न्यूनतम दस्तावेजों पर शहरों की तरह ऋण प्राप्त करने में सक्षम होंगे और यदि कोई संपत्ति को अवैध कब्जे में कर लेता है तो उससे भी मुक्त कराया जा सकेगा।

स्वामित्व योजना से गावों में संपत्ति विवाद को खत्म किया जा सकेगा। विकास कार्यों में मदद मिलेगी। ग्रामीणों को उस संपत्ति का मालिकाना प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा। यहां आपको बता दें कि इस योजना की शुरुआत फिलहाल 6 राज्यों में की जा रही है एक ट्रायल के रूप में जिनमें उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा, मध्यप्रदेश और उत्तराखंड शामिल हैं। इसके बाद भारत के हर गाव में इसको शुरू किया जाएगा।

Swamitva Yojana के लाभ

  • योजना के जरिए देश के ग्रामिण इलाकों के विकास में मदद मिलेगी।
  • इस योजना के माध्यम से स्वामित्व प्रमाण पत्र हासिल होगा,
  • योजना के माध्यम से मिले मालिकाना प्रमाण पत्र की वजह से बैंकों से लोन लिया जा सकेगा।
  • योजना में भूमि का लेखाजोखा तैयार करने में ड्रोन की मदद ली जाएगी।
  • ग्रामीण इलाकों में भूमि को लेकर होने वाले झगड़े समाप्त हो जाएंगे।
  • योजना का लाभ देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशो तक पंहुचाया जाएगा।
  • सरकार के लिए नई योजनाएं बनाने में काफी मदद मिलेगी।
  • योजना का लाभ उन लोगों को सबसे अधिक होगा जिनके पास उनकी संपत्ति तो है लेकिन अंग्रेजों के जमाने से उनके पास इसके कागजात नहीं हैं। ऐसे में यह प्रमाणपत्र हासिल कर जमीन पर अपना मालिकाना हक जता पाएंगे।
  • देश के 60 प्रतिशत से भी अधिक लोग आज ग्रामीण इलाकों में रहते हैं उन सभी को इस योजना का लाभ मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *