तमाम इधर उधर के बाद हरियाणा सरकार ने जाहिर कर दिया है कि लॉकडाउन के दौरान शराब के ठेके नहीं खुलेंगे। साथ ही चेतावनी दी है कि अवैध तस्करी करने और उन्हें शराब पहुंचाने वाले लोगों की भी खैर नहीं है। हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने तस्करों व आपूर्तिकर्ताओं को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि चेकिंग के दौरान शराब के गोदामों व ठेकों पर स्टॉक कम मिलने वाले ठेकेदार का लाइसेंस बैन किया जाएगा।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि फिलहाल स्टॉक चेकिंग में शराब की मात्रा कम मिलने पर 12 लोगों को नोटिस जारी कर दिए हैं। कुछ लोग आवश्यक सामान लाने के बहाने प्रशासन से पास लेकर शराब की कालाबाजारी कर रहे हैं। जिनके स्टॉक में कम शराब मिली है उनका लाइसेंस बैन किया जा सकता है। 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि 15 अप्रैल को केंद्र सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइन के मुताबिक तीन मई तक कहीं भी शराब के ठेके नहीं खोले जा सकते। अगर केंद्र सरकार फैसले में कोई बदलाव करती है तो अन्य प्रदेशों को देखते हुए हरियाणा सरकार निर्णय लेगी। अब तक प्रदेश में 442 जगहों पर छापेमारी कर 1200 से अधिक एफआईआर दर्ज की हैं।

यहां आपको बता दें कि हरियाणा में कई जगह रोक के बावजूद शराब की दुकानें खुली रही। मीडिया रिपोर्ट के बाद उनपर कार्यवाही हुई थी। लेकिन उसके बाद सरकार द्वारा शराब उत्पादन को मंजूरी देने के बाद राजनीति शुरू हुई थी जिसपर दुष्यंत चौटाला ने सरकार की स्थिति स्पष्ट की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *