फरीदाबाद: हरियाणा में में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही बढ़ोतरी से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हैं। इसी बीच शनिवार को एक ऐसा कोरोना मरीज मिला है, जिसके बाद अब स्वास्थ विभाग में कोहराम मच गया है। स्वास्थ विभाग के मुताबिक एक महिला निजी अस्पताल में डिलीवरी कराने के बाद जब अपने घर दिल्ली पहुंच गई तब उसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। पूरे मामले में अस्पताल की बड़ी लापरवाही सामने आई है। इसकी सूचना मिलने के बाद आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पताल के स्टाफ और डॉक्टर को कोरेन्टीन कर दिया है। वहीं अस्पताल पर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है।

दरअसल फरीदाबाद के राजीव कलोनी में स्थित एक निजी अस्पताल पवन अस्पताल है, जिसमें स्वास्थ विभाग की टीम कोरोना के मरीज की पुष्टि होने के बाद कार्रवाई करने पहुँची थीं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से अस्पताल में पहुंचे डॉ संजीव भगत के मुताबिक, पवन हॉस्पिटल में बीते 28 तारीख को एक महिला ने ऑपरेशन के बाद बच्चे को जन्म दिया था। एहतियात के तौर पर पवन हॉस्पिटल ने महिला का कोविड-19 का टेस्ट कराया था। लेकिन अस्पताल ने टेस्ट रिपोर्ट आने से पहले ही महिला को डिस्चार्ज कर दिया। महिला डिस्चार्ज होकर अपने घर दिल्ली जा चुकी है।

लाॅक डाउन में एक-दूसरे राज्यों में फंसे नागरिकों की घर वापसी की तैयारी, ऐसे करें आवेदन

आज जब उनकी कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तब उन्हें सूचना दी गई है। जिसके बाद वह अस्पताल में पहुंचे हैं और अस्पताल को सेनिटराईज कराया जा रहा है। अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ को कोरेनटाइन किया जा रहा है। वहीं डॉक्टर संजीव भगत ने कहा कि वह अपने उच्चाधिकारियों से बात कर रहे हैं, अस्पताल पर जो भी कार्रवाई बनेगी वह की जाएगी।

जानकारी के अनुसार महिला का रिश्तेदार अस्पताल में काम करता है। दिल्ली में कोरोना के ज्यादा मामलों को देखते हुए वह डिलीवरी के लिए महिला को पवन अस्पताल में लेकर आया था। यहां बड़ी लापरवाही यह रही कि कोरोना की रिपोर्ट का इंतजार किए बगैर उक्त कर्मचारी ने महिला को डिस्चार्ज करवाकर दिल्ली वापस भेज दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *